in

तकनीक के माध्यम दौड़ता ऑनलाइन ठगी का बाजार

दूसरे कारोबार की तरह ही इंसानी जिस्म भी एक कारोबार है, जिसका बहुत बड़ा बाज़ार है। दुनिया के तक़रीबन हर मुल्क में जिस्मफरोशी का धंधा चलता है।  यह बाजार भी वक़्त के साथ साथ अपने आप को बदलता रहा है।  जैसे जैसे तकनीक उन्नत हुई , हर चीज़ में बदलाव आया। पहले इंसान घोड़े और खच्चर से सफ़र तय किया करता था और अब मशीन में बैठ कर हवा में उड़ जाता है।  ज़माना पहले से बेहतर भी हुआ और बदतर भी।  हम मेडिकल, ट्रांसपोर्टेशन, टेक्नोलॉजी में बेहतर हुए लेकिन इंसानियत के पैमाने पर बद से बदतर हुए।  इंसान इंसान को किस तरह से नुकसान पहुँचा सकता है , कुछ नहीं कहा जा सकता। जानवर भी अपनी तरह दिखने वाले दूसरे जानवर को नहीं मारता, बल्कि अपनी बिरादरी से अलग जानवर को मारता है। जबकि इंसान ने अपने लिए हर बात को जायज़ कर लिया।    हम बात कर रहे थे जिस्म के बाज़ार की। तकनीक के साथ जैसे दूसरे कारोबार विकसित हुए, ऐसे ही यह भी विकसित हुआ। आज इंटरनेट पर ऑनलाइन शॉपिंग में डिजिटल सेक्स भी ख़रीदा जा सकता है।  उसको अपने हिसाब से एडजस्ट करवाया जा सकता है। फिजिकल जिस्मफ़रोशी के अलावा अब वर्चुअल जिस्मफ़रोशी भी होने लगी।  इंटरनेट पर मौजूद कुछ वेबसाइट न्यूड वीडियो कॉल, डर्टी टॉक ऑडियो कॉल और सेक्स चैट जैसे ऑप्शन उपलब्ध कराती हैं, जिन पर मौजूद हैं  इंडिया की अलग अलग लोकेशन की लड़कियाँ। गूगल पर सर्च करने पर ऊपर ही दिखाई देती हैं www.ii.skokka.com और www.in.locanto.com जैसी साइट्स जो कई और सर्विसेज देने के साथ साथ उपलब्ध करा रही है डिजिटल वेश्यावृति। इन पर मिल जायेंगे लड़कियों के एक्टिव मोबाइल नंबर। वेबसइट बाक़ायदा मैनेज हैं जैसे आप सर्च करना चाहें किस स्टेट की , किस शहर की कौन सी भाषा बोलने वाली लड़की आपको चाहिए है। मने यहाँ सब कुछ बिकता है। सब कुछ अपने हिसाब से सेलेक्ट कर सकते हैं।  साइट पर सीधे ही व्हाट्सएप्प लिंक दिया हुआ है , जैसे ही क्लिक करेंगे व्हाट्सप्प पर ऑटो मैसेज टाइप हो जाएगा, “Hi , I saw your ad on skokka, I would like to meet you.”. मतलब सब तैयार मिलेगा यहाँ पर।  Test 1 : हमने इनकी हकीकत जानने के लिए जब इन पर मैसेज किया। मेसेज सेंड होते ही उधर से सर्विस लिस्ट रिसीव हुई जिसमे तीन सर्विस दी हुई थी न्यूड वीडियो कॉल , डर्टी टॉक ऑडियो कॉल और सेक्स चैट और साथ में phonepe ,paytm और google pay जैसे पेमेंट ऑप्शन।  वीडियो कॉल सर्विस लेने से पहले एक मिनिट के डेमो वीडियो भी ले सकते हैं जिसमे फुल न्यूड होने की बात कही जाती है। इस एक मिनट के वीडियो का रेट 100 -150 रुपए होता है।  जब हमने  पूरी तरह से जानने के लिए डेमो चार्ज पे किया तो यह फ्रॉड हुआ कि चार्ज लेकर ब्लॉक कर दिया, उधर से न ही डेमो हुआ और न ही कोई और मेसेज।  

Test 2 : हक़ीक़त को और जानने के लिए हमने दूसरे नंबर सेलेक्ट किया और उस पर Hi लिखकर भेजा , उधर से सर्विस लिस्ट रिसीव हुई।  वीडियो से पहले लाइव डेमो के लिए चार्ज पे किया। लाइव डेमो की जगह किसी साइट का डाउनलोड किया हुआ क्लिप सेंड कर दिया गया।  जब हमने कहा कि लाइव डेमो की बात हुई थी तो जवाब मिला कि लाइव सिर्फ कॉल होती है, उसका 800 /- का रेट है 15 मिनिट का। डेमो ऐसे ही होता है शूट किया हुआ।  यह दूसरा फ्रॉड देखने को मिला।  Test 3 :इन सब बातों की तह तक जाने के लिए हमने तीसरे नंबर मेसेज किया, डेमो चार्ज भेज दिया, उधर से वीडियो कॉल भी हुई, मगर उधर से कुछ दिखाई नहीं दिया और आवाज़ आई कि 100/-में रूम की लाइट बंद करके ही डेमो दिया जाता है।  अगर लाइट खुलवानी है तो 100 और दो।  100 दोबारा देने के बाद उधर से मेसेज आया कि इंतज़ार करो अभी व्यस्त हूँ।  कई बार मेसेज करने पर ब्लॉक तो नहीं किया गया , मगर बोला गया कि जल्दी वीडियो कॉल चाहिए तो 100 और दो।  बार बार मेसेज करने पर भी कोई रिप्लाई नहीं आया। हमने आगे कोई संपर्क नहीं किया. 

Test 4 : एक नंबर पर मेसेज करके जब हमने उनकी सर्विस न लेकर कुछ और बातें करने को कहा उसके लिए 500 से लेकर 1000 हज़ार रुपए तक की अलग से डिमांड की गई।  और पेमेंट पहले लेने की बात हुई।  लेकिन हमने पिछले अनुभव को ध्यान में रखते हुए एक भी रुपया नहीं दिया।  हमारा उद्देश्य इन फ्रॉड को गहराई से जानने का था।  Test 5 : एक नंबर पर बात करके सर्विस नहीं ली और न ही डेमो चार्ज पे किया, तब हमारे पास एक वॉइस कॉल आई जिसका कोई नंबर नहीं था , बल्कि प्राइवेट नंम्बर कालिंग लिखकर आया जिसको न ही सेव किया जा सकता था , न ही कॉल बैक और न ही truecaller जैसी एप्प पर चेक किया जा सकता था।  उधर से बोला गया कि आपने न कोई सर्विस ली और न डेमो चार्ज पे किया , आपने हमारे साथ टाइम पास किया। आपके खिलाफ पुलिस में शिकायत कर दी गई है और पुलिस आपको ट्रेस कर लेगी। यह तो ठीक वैसे ही हुआ कि अवैध चरस गांजा न खरीदने पर पुलिस तलाश कर रही हो. अब सोचने वाली बात यह कि ग़ैर क़ानूनी काम न करने पर पुलिस आपको पकड़ ले, है न मज़े की बात।  जबकि पुलिस तो गैर क़ानूनी काम करने पर पकड़ती है।         इन सभी साइट्स की  बात थी सर्विस देने वाला नंबर अलग था और पेमेंट लेने वाला नंबर अलग।  यानी पेमेंट देने के बाद आप यह दावा नहीं कर सकते कि आपने वीडियो कॉल के लिए पैसा दिया है।  कितनी सफ़ाई से सब कुछ प्लान किया जाता है और अंजाम दिया जाता है।  इन साइट्स पर न सिर्फ पुरुषों के लिए लुभावने प्रलोभन हैं बल्कि महिलाओं के लिए भी प्ले बॉय जैसे ऑफर मौजूद हैं।  इसके साथ साथ अगर ट्रांसजेंडर चाहिए तो वह सर्विस का भी ऑप्शन दिया गया है।  भारत में पहले xvideos और pornhub जैसी साइट्स खुल जाया करती थीं लेकिन कुछ समय से इन पर भी बैन लगा दिया गया।  लेकिन इस तरह की साइट्स दूसरे सर्विसेज उपलब्ध कराने के साथ साथ गैर क़ानूनी काम भी धड़ल्ले से कर रही हैं. जब इन साइट्स के बारे और जानकारी जुटानी चाही तो quora पर ये लिंक मिला

https://www.quora.com/Is-Locanto-personal-services-real-or-fake

लिंक पर पड़े हुए लोगों के अनुभव को पढ़कर ये निष्कर्ष निकला कि इस तरह की सर्विस लोगों को लूटने के लिए ही हैं।  इस तरह की साइट्स पर जो कंप्लेंट  ऑप्शन है , उस पर कंप्लेंट करने से भी कोई उत्तर नहीं आता है

पहली बात जो कारोबार भारत में क़ानूनी तौर पर पर वैध नहीं है, वह कितनी आसानी से तकनीक के माध्यम से कैसे दौड़ रहा है और दूसरी बात ऑनलाइन ठगी।  रोज़ाना कितने लोग इन साइट्स पर शिकार होते होंगे।  कोई 100 -200 रुपए के लिए शिकायत नहीं करता होगा।  इस तरह की साइट्स पर अभी तक जिम्मेदारान की नज़र क्यों नहीं पड़ी।  इन सब चीज़ों को रोकने की आखिर क्या प्रावधान हैं।   

The views and opinions expressed by the writer are personal and do not necessarily reflect the official position of VOM.
This post was created with our nice and easy submission form. Create your post!

What do you think?

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

Comments

0 comments